हिंदी योगी

What is debt mutual fund

डेट म्युचुअल फंड क्या है?- किसके लिए सही है डेट म्युचुअल फंड ?

म्युचुअल फंड एक ऐसा Financial प्रोडक्ट है जिसे हर व्यक्ति अपने जरुरत और रिस्क के हिसाब से ले सकता है. म्युचुअल फंड में आप मिनिमम 500 रूपये से भी निवेश शुरू कर सकते है और म्युचुअल फंड में निवेश करने के लिए आपको किसी demat या trading अकाउंट की जरुरत नहीं होती।

 

म्युचुअल फंड में हर तरह के स्कीम होते है जो व्यक्ति शेयर मार्किट में निवेश करना चाहता है और थोड़ा जोखिम लेने की क्षमता रखता है वह म्युचुअल फंड के जरिये शेयर मार्किट में निवेश कर सकता है और जिसे फिक्स्ड इनकम वाले म्युचुअल फंड में निवेश करना हो, जो अपने पैसे पर बिलकुल जोखिम नहीं लेना चाहता वह डेट  म्युचुअल फंड में निवेश कर सकता है। 

Advertisement

 

हर कोई अपनी पसंद का फंड ले सकता है और उसमे जब चाहे इन्वेस्ट कर सकता है और जब चाहे निकल सकता है.

 

जो व्यक्ति अपने पैसे पर रेगुलर इनकम चाहता है वह म्युचुअल फंड के Debt Fund में निवेश कर सकता है. जिसमे मार्किट के उतार-चढ़ाव का कोई फर्क नहीं पड़ता। 

 

अगर आप भी Debt Fund के बारे में (about Debt Fund) विस्तार से जानना चाहते है तो आप बिलकुल सही जगह पर है. हम आपको डेट फण्ड के बारे में हिंदी में (Debt Fund in Hindi) सभी जानकारी देंगे। 

 

तो आइये शुरू करते है और जानते है कि Debt Fund क्या है?, Debt fund कैसे काम करता है? और Debt fund के क्या बेनिफिट है?

डेट फंड क्या है - What is Debt Fund?

डेट फंड वह फंड है जिसमे म्युचुअल फंड इन्वेस्टर के पैसो को फिक्स्ड इनकम वाले instrument में निवेश करते है जैसे Govt Bond, Corporate Bond,Treasury Bill, Commercial Paper. ऐसे instrument में म्युचुअल फंड को फिक्स इंटरेस्ट मिलता है और इन इंस्ट्रूमेंट की एक फिक्स मच्योरिटी डेट होती है. 

 

डेट फंड में इक्विटी फंड के मुकाबले रिस्क बहुत कम रहता है और रिटर्न की बात करे तो वो भी डेट फंड में इक्विटी फंड के मुकाबले कम मिलता है . लेकिन डेट  फंड में निवेश करने से आपको बैंक के बचत खाता, फिक्स्ड डिपाजिट, R.D, PPF से अधिक रिटर्न मिल जाता है.

 

कंपनी के शेयर के fluctuate होने से डेट फंड के रिटर्न पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता। डेट  फंड में भी अलग-अलग तरह के स्कीम होती है जिसे हम इस आर्टिकल में आगे पढेंगे। हर स्कीम की अपनी एक खासियत होती है.

Debt Fund कैसे काम करता है?

आइये अब जानते है की डेट फंड काम कैसे करता है. 

 

ये तो हम भली भांति जान चुकें है की म्युचुअल फंड लेना हो तो या तो हम Direct Plan के तहत खुद AMC ऑफिस जा कर म्युचुअल फंड ले सकते है या फिर Regular Plan के तहत म्युचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर के जरिये म्युचुअल फंड में निवेश कर सकते है.  

 

डेट फंड में निवेश के बाद उस फंड के फंड मैनेजर हमारे पैसो को फिक्स इनकम वाले securities में निवेश करता है जैसे की गवर्नमेंट बांड, कॉर्पोरेट बांड , कमर्शियल पेपर इत्यादि जहाँ से एक फिक्स्ड इंटरेस्ट मिलता है और उसी के आधार पर म्युचुअल फंड हमें रेगुलर इनकम देता है. 

 

डेट फंड की अपनी एक मचोरिटी डेट होती है, जो की 3 महीने से ले कर 5 साल तक हो सकती है. यह मचुरिटी डेट फंड के प्लान पर depend करता है की अपने शार्ट टर्म प्लान लिया है या लॉन्ग टर्म.

Debt Fund के advantage क्या है?

Low Risk:- डेट फंड का सबसे बड़ा एडवांटेज तो यह है की इसमें रिस्क बहुत कम होता है. फंड मैनेजर इन्वेस्टर के पैसो को ऐसी सिक्योरिटी में निवेश करता है जिसकी डिफ़ॉल्ट होने की सम्भावना न के बराबर होती है और जहाँ से फिक्स इंटरेस्ट मिलता है.



High liquidity:- डेट फंड में liquidity बहुत ज्यादा होती है. आप अपना पैसा जब चाहे निकाल सकते है. अगर आप PPF, R.D. फिक्स्ड डिपाजिट में निवेश करते है तो आप उनके मचोरिटी डेट से पहले नहीं निकाल सकते परन्तु डेट फंड में ऐसा नहीं है. आप जब चाहे पैसे की जरुरत पड़ने पर अपना पैसा निकाल सकते है.

Debt Fund के Disadvantage क्या है?

Low Return:- डेट फंड में रिटर्न इक्विटी फंड के मुकाबले कम होता है,जहाँ इक्विटी फंड लॉन्ग टर्म में 12% – 15% तक रिटर्न दे सकते है वहीं डेट  फंड में रिटर्न 8%-10% तक रहता है 

Not Guaranteed Return:-  जैसा की हम जानते है की डेट फंड में इन्वेस्टर के पैसो को Govt Bond, Commercial Paper, Treasury Bill जैसे instrument इंस्ट्रूमेंट में निवेश किया जाता है परन्तु इन्वेस्टर को रिटर्न की कोई गारंटी नहीं मिलता, डेट  फण्ड ने जहाँ निवेश किया होता है उस पार्टी के डिफ़ॉल्ट होने का भी रिस्क रहता है.

डेट फंड में निवेश के पहले ध्यान रखने वाली बात

जैसा की हम जानते है की डेट फंड एक सिक्योर फाइनेंसियल इंस्ट्रूमेंट है जो की इन्वेस्टर के पैसो को मार्किट के ऐसे एसेट क्लास में निवेश करता है जहाँ से फिक्स इनकम जेनेरेट होती है. और इस वजह से इस फंड में जोखिम कम रहता है. लेकिन फिर भी डेट फंड में निवेश करने से पहले निवेशक को कुछ बातें जरूर ध्यान में रखना चाहिए।

 

आइये जानते है की ऐसे कौन सी बातें है जिन्हे डेट फंड में निवेश करते समय ध्यान रखना चाहिए:-

 

1 No High Return:- अगर आप अपने निवेश पर अधिक लाभ की उम्मीद के नजरिये से डेट फंड में निवेश कर रहे है तो ये निवेश आपके लिए सही नहीं है. क्योकिं डेट फंड में आपको लगभग पोस्ट ऑफिस के सेविंग स्कीम के बराबर ही लाभ मिलता है जो की 6% से 10 % तक हो सकता है.

 

डेट फंड को भी कई तरह के केटेगरी में बांटा गया है जैसे कि Money Market Fund, Liquid Fund, Bond Fund इत्यादि। सभी फंड के टर्म और रिटर्न अलग-अलग हो सकते है. इसलिए डेट फंड में निवेश से पहले ये जरूर एक बार विचार कर लें कि अपने निवेश पर आपको कितनी रिटर्न की उम्मीद है और कितने समय तक आप पैसा म्युचुअल फंड में लगाना चाहते है. उसी हिसाब से अपना फंड का चयन करें

 

👉 यह भी पढ़ें : शेयर मार्किट टिप्स: 7 RULES FOR SUCCESSFUL INVESTING | HOW TO BECOME A SUCCESSFUL INVESTOR

 

2 Term Of Investment:- SEBI ने डेट फंड के कुछ केटेगरी निर्धारित किये है जिसमे मुख्य रूप से Money Market Fund, Liquid Fund, Short Term Bond Fund, Long Term Bond Fund है. इन सभी फंड्स को उनके निवेश के क्लास और निवेश की अवधि के तौर पर बांटा गया है.

 

Liquid Fund वो फंड है जिनकी निवेश की अवधि 91 दिन तक होती है. इसी प्रकार Money Market Fund जिसकी निवेश की 1 साल तक होती है, Short Term Bond Fund में निवेश की अवधि 1 साल से 3 साल और Long Term Bond Fund में निवेश की अवधि 3 साल से 7 साल हो सकती है.

 

इसलिए निवेश से पहले यह भी जरूर चेक कर लें की आप कितने दिन के लिए डेट फंड में निवेश करना चाहते है. हालांकि मेच्योरिटी डेट से पहले किसी भी फंड से बाहर निकलने पर कोई पेनल्टी नहीं है लेकिन Exit Load Charge देना पर सकता है जो की 1% तक हो सकता है.

 

इस आर्टिकल में हमने जाना की डेट म्युचुअल फंड क्या है?, डेट फंड के क्या फायदे है? और किसके लिए यह फंड सही है?. हमने इस पोस्ट में डेट फंड से सम्बंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी देने का प्रयत्न किया है , लेकिन फिर भी आपके मन में डेट फंड के बारे में कोई अन्य प्रश्न हो या कोई सुझाव हो तो हमें कमेंट के जरिये या Contact Us में ईमेल के जरिये अपना सुझाव या प्रश्न भेज सकते है. हमें आपके प्रश्न का जवाब देने में अति ख़ुशी होगी।

Leave a Comment