हिंदी योगी

How to start eCommerce Business in india

ई कॉमर्स बिज़नेस कैसे शुरू करें?, How To Start E-Commerce Business In India- In Hindi

आज के दौर में हर व्यक्ति अपने टाइम और पैसे  पर अपना कंट्रोल चाहता है. हर व्यक्ति चाहता है की उसका अपना कोई ऑनलाइन बिज़नेस हो, जिसे वह बहुत आगे तक ले जाए और बहुत पैसा और नाम कमाए और अपने सपनों को पूरा करे.

 

अगर आप भी ऑनलाइन बिज़नेस करना चाहते है और जानना चाहते है की ऑनलाइन बिज़नेस करके पैसे कैसे कमाए तो इस आर्टिक्ल को पूरा अंत तक पढ़िए।

 

हम इस आर्टिक्ल में आपको ई-कॉमर्स बिज़नेस कैसे शुरू करे (How To Start Online/ E-Commerce Business In India) का पूरा प्रोसेस शुरू से अंत तक बताएंगे और ये भी बताएंगे कि आप

Advertisement
ई-कॉमर्स बिज़नेस से हर महीने कितना कमा सकते है.



बिज़नेस करना आज के दौर में जितना आसान है शायद पहले कभी नहीं था, आज हर कोई बहुत आसानी से अपना ऑनलाइन बिज़नेस बहुत ही कम लागत में शुरू कर सकता है और उस बिज़नेस से बहुत पैसा कमा सकता है.

 

भारत जैसे विकाशील देश में बिज़नेस करने की अपार सम्भावना है तभी तो दुनिया भर के टॉप कंपनियां यहाँ आ कर बिज़नेस करना चाहती है.

 

भारत जनसंख्या की दृष्टि से दुनिया में दूसरे नंबर पर है और ई-कॉमर्स के घनत्व की दृष्टि से दुनिया में तीसरे नंबर पर है जबकि अमेरिका दूसरे नंबर पर और चाइना पहले नंबर पर है.

 

भारत में मोबाइल और इंटरनेट के आने और इंटरनेट के सस्ते दाम पर उपलब्ध होने की वजह से यहाँ ऑनलाइन बिज़नेस के लिए अपार सम्भावना उत्पन हुई है. एक्सपर्ट का कहना है की आने वाले समय में भारत ई-कॉमर्स के क्षेत्र में अमेरिका जैसे सुपर पावर देश को भी पीछे छोड़ देगा। 

 

अगर आप भी ई कॉमर्स बिज़नेस शुरू करना चाहते है तो यह बहुत ही अच्छा समय है  ई-कॉमर्स बिज़नेस के बारे में अधिक से अधिक जानकारी ले कर अपना ई कॉमर्स बिज़नेस शुरू करने का .



आज हम इस आर्टिकल में बात कर रहे है कि ई-कॉमर्स बिज़नेस (E-Commerce Business) कैसे शुरू करे?  तो में आपको बता बता दूँ की ई कॉमर्स बिज़नेस करने के दो सबसे बेस्ट तरीके है, पहला ये की आप खुद का E-commerce Website बनाये और उसे लॉंच कर अपने सामान को दुनिया भर में कही भी बेचे। 

 

दूसरा यह है की अगर आप E-commerce Website बनाने में लगने वाले पैसे और समय दोनों बचाना चाहते है तो आप Popular Online Market Place पर रजिस्टर कर अपना सामान बेच सकते है.



इस आर्टिक्ल में हम ऊपर दिए दोनों तरह के ऑनलाइन बिज़नेस के बारे में डिटेल में बात करेंगे उससे पहले आइये  समझते है की E-Commerce क्या  है और उसके फायदे क्या है? 

ई-कॉमर्स क्या है-What is eCommerce?

eCommerce Business

E-commerce को हम Electronic Commerce, E-Business या Internet Commerce के नाम से भी जानते है । E-commerce से तात्पर्य है किसी भी वस्तु या सेवा को इंटरनेट के माध्यम से खरीदना या बेचना और इंटनेट के माध्यम से ही पैसे का लेन देन  करना। 

 

👉 यह भी पढ़ें : AFFILIATE MARKETING क्या है ? कैसे शुरू करें AFFILIATE MARKETING?

 

इस प्रक्रिया में Seller और  Buyer दोनों ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर मिलते है और  Seller Buyer को ऑनलाइन ही अपने Product और Services  की सारी डिटेल provide कराता है और  Buyer ऑनलाइन ही सामान को  पसंद करता है और पसंद आने पर उस प्रोडक्ट के लिए आर्डर करता है और ऑनलाइन ही उसका पेमेंट कर देता है .

E-commerce के फायदे (Benefit of E-Commerce)

कम लागत (Low Cost):  जैसा की हम जानते है कि Traditional बिज़नेस में हमें एक दुकान की आवश्यकता होती है, फिर फर्नीचर, लाइट, पंखे, ए.सी (A.C) और स्टाफ जिन्हे हर महीने सैलरी देने होते है जिससे ट्रेडिशनल बिज़नेस करने का cost बहुत बढ़ जाता है. लेकिन ऑनलाइन बिज़नेस को आप कम पैसो में भी शुरू कर सकते है. आप अपने घर से भी इस काम को शुरू कर सकते है और आपको ज्यादा स्टाफ रखने की भी आवश्यकता नहीं है. ऑनलाइन बिज़नेस करने के प्रोसेस को जानने के बाद आप अकेले या 2-4 लोग मिल कर भी बहुत बड़ा ऑनलाइन बिज़नेस सेटअप कर सकते है   

 

वैश्विक पहुँच (Global Reach) ऑनलाइन बिज़नेस की सबसे बड़ी ख़ासियत यही है की आप ऑनलाइन के ज़रिये दुनिया के किसी भी कोने तक पहुंच सकते है और अपना सामान या सेवा बिना किसी रुकावट के बेच सकते है. 

 

कार्य में तेजी (Fast Processing):- ऑनलाइन बिज़नेस में जैसे जैसे आपका एक्सपेरिएंस बढ़ता जाता है आप अपने काम में कुशल होते जाते है. और धीरे-धीरे आपके काम करने के तरीके में तेजी आने लगती है. क्योकि आपको खुद से Physicaly सामान लाने या बेचने मार्केट नहीं जाना होता, आपको बस ऑनलाइन सामान आर्डर करना है और ऑनलाइन बैठ कर अपने सामान को बेचना है. बाकी डिलीवरी का काम Courier कंपनी संभालती है.

 

अधिक बिक्री (Sale More) जैसा की हमने पहले भी बात की कि ऑनलाइन के जरिये हम दुनिया के किसी भी कोने तक बड़े ही आसानी से पहुंच सकते है और अपना सामान बेच सकते है. दुनिया भर में हमारे कस्टमर होने से हमारे प्रोडक्ट की बिक्री भी ज्यादा होती है. जबकि ट्रेडिशनल बिज़नेस की बात करे तो उसमे हमारे पास एक दायरे में ही हमारे कस्टमर होते है 

 

समय की आजादी (Time Flexibility) ट्रेडिशनल बिज़नेस की तरह आपको अपने गल्ले पर 10 -12 घंटे बैठने की जरुरत नहीं पड़ती। आप अपने सहूलियत के हिसाब से ऑनलाइन बिज़नेस में टाइम दे सकते है और अपने मुताबिक टाइम Choose कर सकते है.

 

इस ब्लॉग में हमने अब तक जाना कि E-commerce क्या है और E-commerce के क्या फायदे है?

 

अब ऑनलाइन बिज़नेस शुरू करने से पहले कुछ बाते जानना बहुत जरूरी होता है जिससे की हमें बिज़नेस करने में आगे किसी प्रकार की दिक्कत का सामना न करना पड़े. तो आइये जानते है की वो कौन सी बाते है जिसे जानना और समझना बहुत जरुरी है 

 

सबसे पहले ये Decide करें की आपको खुद की वेबसाइट (Online Store) लांच करना है या फिर मार्केटप्लेस जैसे Amazon, Flipkar, Myntra, Shopclues Etc.पर प्रोडक्ट बेचना है. अगर आप ये जान लेते है तो आपके लिए बिज़नेस करने के लिए  शुरुआती बजट बनाने में आसानी हो जाती है 

 

चलिए  हम आपको बताते है कि अगर आप खुद की वेबसाइट लॉन्च कर प्रोडक्ट बेचते है तो क्या नुकसान और फायदे है और  मार्केटप्लेस वेबसाइट पर  प्रोडक्ट बेचते है तो क्या नुकसान और फायदे है ताकि आपको यह Decide करने में आसानी हो की आपको खुद की इ-कॉमर्स वेबसाइट के साथ बिज़नेस शुरू करना चाहिए या फिर मार्केटप्लेस वेबसाइट के साथ। 

 

खुद की  ई-कॉमर्स वेबसाइट: अगर आप खुद की ऑनलाइन स्टोर के साथ बिज़नेस शुरू करते है तो ये आपके लिए आगे चल कर बहुत फायदे देने वाला बिज़नेस हो सकता लेकिन शुरुआत में आपको इसमें टाइम और पैसा ज्यादा लगाना पड़ता है.  

 

आपको सबसे पहले अपना एक ई-कॉमर्स वेबसाइट develop करवाना होता है जिसकी लागत लगभग  50,000 – 2,00,000 तक होती है, फिर अपने ऑनलाइन स्टोर की मार्केटिंग करनी होती है. आप मार्केटिंग के लिए सोशल मीडिया का भी उपयोग कर सकते है जो की बिलकुल फ्री होती है परन्तु जल्दी  रिजल्ट के लिए आपको paid सर्विस लेनी होगी। जिसमे आपकी लागत और बढ़ जाती है. 

 

एक बार आपने अपना खुद का ऑनलाइन स्टोर बना  लिया और अच्छे से मार्केटिंग कर ली तो अब आप उस ऑनलाइन स्टोर से अच्छा पैसा कमा सकते है.

 

👉 यह भी पढ़ें : “Amway” डायरेक्ट सेलिंग कंपनी, जानिए दुनियाँ की सबसे बड़ी डायरेक्ट सेलिंग कंपनी कैसे काम करती है ?

 

मार्केटप्लेस वेबसाइट: अगर आप Market Place Website जैसे  Amazon, Flipkart, Myntra, आदि के साथ बिज़नेस शुरू करते है तो आपकी इसमें शुरुआती लागत बहुत कम होती है साथ ही टाइम की भी बचत होती है.

 

इसमें आपको किसी प्रकार की खुद की वेबसाइट बनाने की आवश्यकता नहीं होती और न ही किसी प्रकार से मार्केटिंग करने की जरुरत होती है. आपको बस मार्केटप्लेस पर Registration की प्रक्रिया पूरी करनी होती है और कुछ समय के बाद मार्केटप्लेस द्वारा आपके डॉक्युमेंट के वेरिफिकेशन के बाद आप अपना प्रोडक्ट मार्केटप्लेस वेबसाइट पर अपलोड कर बिज़नेस शुरू कर सकते है जिसमे मुश्किल से आपको 3-5 दिन का समय लगता है.

 

मार्केटप्लेस के साथ बिज़नेस की  शुरुआत तो आसानी से हो जाती है और आपके प्रोडक्ट पर आर्डर भी अच्छे खासे मिल जाते है, परन्तु अगर आपका प्रोडक्ट Unique नहीं है तो यहाँ आपकी प्रॉफिट मार्जिन बहुत कम हो जाती है. 

 

Competition अधिक होने के कारण आप अपने प्रोडक्ट का Selling Price अपने अनुसार नहीं रख सकते। अगर आपका प्रोडक्ट बांकी सेलर से अलग नहीं है तो आपके लिए अपने प्रोडक्ट पर अच्छा  मार्जिन निकाल पाना मुश्किल हो जाता है. 

 

दूसरी बात यह भी है की Market Place पर अगर आप अपना प्रोडक्ट बेचते है तो यहाँ आपको प्रोडक्ट के sell होने पर Market Place Websites को कई तरह के चार्ज भी देने होते है. जिससे आपके प्रॉफिट पर मार्जिन और कम हो जाता है. 

 

में आपको Demotivate बिलकुल नहीं कर रहा हूँ लेकिन बिज़नेस शुरू करने से पहले यह सब आपके लिए जानना बहुत जरूरी है ताकि आप सभी चीजों को समझ कर अच्छे से स्टेप लें ताकि आप अच्छे से बिज़नेस कर सके और बिज़नेस बढ़ा सके. सारी बाते पहले से पता हो तो आप अच्छे से प्रोडक्ट choose कर सकेंगे और प्रॉफिट कमा सकेंगे.

  

अगर मार्केटप्लेस के साथ आप अपना बिज़नेस शुरू करना चाहते है तो आपको ये बात ध्यान रखनी होगी कि आप ऐसा प्रोडक्ट select करे जो unique हो, बाकियों से थोड़ा अलग हो और उस प्रोडक्ट की डिमांड अच्छी हो.अगर प्रोडक्ट Unique होगा तो लोग पसंद करेंगे और आप अपने हिसाब से उस प्रोडक्ट का प्राइस भी Decide कर पाएंगे जिससे आपको उस प्रोडक्ट पर बेहतर प्रॉफिट मिल सकेगा.   

अब आपको ई-कॉमर्स बिज़नेस कैसे शुरू करे इसके बारे में बहुत सी बातें क्लियर हो गयी होगी। खुद का ऑनलाइन स्टोर खोलें या पहले से मार्केट में उपलब्ध पॉपुलर ई-कॉमर्स वेबसाइट पर अपना सामान बेचे यह भी आप अपने बजट को देखते हुए फैसला ले सकते है.

eCommerce Business

अब बात करते है कि ऑनलाइन बिज़नेस शुरू करने के लिए आगे क्या प्रक्रिया होगी

 

प्रोडक्ट रिसर्च (Product Research) अब आपको प्रोडक्ट सेलेक्ट करने है. पहले तो खुद से पूछिए की आपको किस प्रोडक्ट के बारे में ज्यादा जानकारी है. अगर आपको किसी प्रोडक्ट के बारे में अच्छी जानकारी है तो आपके लिए ऐसे प्रोडक्ट सेल्ल करना फ़ायदेमंद होगा। क्योंकि आपको पहले से पता है की इस प्रोडक्ट की मार्केट में क्या डिमांड है और यह कस्टमर के लिए कितनी फ़ायदेमंद है, साथ ही आप उस प्रोडक्ट में और क्या इम्प्रूवमेंट किया जा सकता है इस बात का भी आप अच्छे से अंदाज़ा लगा सकते है इस तरह आप उस प्रोडक्ट को औरों से अलग बना सकते है.

 

और अगर आपको प्रोडक्ट के बारे में जानकारी नहीं है फिर भी चिंता की बात नहीं है, आपको नया प्रोडक्ट देखना होगा जिसकी मार्केट में डिमांड है, कस्टमर को उस प्रोडक्ट की जरूरत है. प्रोडक्ट रिसर्च के लिए आप सोशल मीडिया का भी उपयोग कर सकते है. कस्टमर को अपने प्रोडक्ट का फ्री में टेस्ट करवा कर उस प्रोडक्ट को ले कर उनका क्या बेहेवियर है उस बारे में मालूम कर सकते है ताकि आपको अपने प्रोडक्ट के बारे में deep knowledge हो. 



प्रोडक्ट सोर्स (Product Source) प्रोडक्ट रिसर्च के बाद आपको अपने प्रोडक्ट सोर्स के बारे में जानकारी लेनी है कि किस मार्केट में आपका प्रोडक्ट उपलब्ध है. और उस मार्केट से अगर आप प्रोडक्ट खरीदते है तो आपको क्या Cost पर रही है. आप चाहे तो out of station या out of country  से भी अपना प्रोडक्ट मंगवा सकते है लेकिन कोई भी डील फाइनल करने से पहले सेलर के बारे में सारी जानकारी ले ले. 

 

आपको बता दूँ कि ऑनलाइन भी कुछ B2B वेबसाइट है जैसे Uddan, Tradeindia, Indiamart जहाँ से आप होलसेल में सामान मंगवा सकते है 

 

पैकिंग मटेरियल (Packing Material);- प्रोडक्ट सोर्स के बाद बारी आती है पैकिंग बॉक्स की. पैकेजिंग का बिज़नेस में बहुत बड़ा रोल प्ले करता है. कूरियर कंपनी वाले पैकेट के वजन और साइज के हिसाब से पैसे चार्ज करते है तो उसी हिसाब से आपको पैकिंग बॉक्स तैयार करवाना चाहिए जिससे पैकिंग बॉक्स की क्वालिटी भी ठीक रहे और ज्यादा भरी भी न हो. तो आप कूरियर कंपनी से पहले ही बात कर लें की किस-किस स्टेट के कितने चार्ज होंगे।

 

कूरियर/लॉजिस्टिक कंपनी से संपर्क (Contact To Courier/ Logistic Company): अगर आप मार्केटप्लेस पर अपने प्रोडक्ट को बेच रहे है तो कूरियर सर्विस के लिए आपको किसी और से बात करने की आवश्यकता नहीं है, क्योंकि कूरियर की सर्विस मार्केटप्लेस वेबसाइट द्वारा ही आपको प्रोवाइड की जाती है. परन्तु अगर आप खुद के ई-कॉमर्स वेबसाइट से बिज़नेस कर रहे है तो आपको कस्टमर को प्रोडक्ट की डिलीवरी के लिए कुरिअर कंपनी से बात करनी पड़ेगी।

 

हर कूरियर कंपनी के अलग-अलग चार्ज होते है. तो आप यह देख लें की आपके लिए कौन सी कंपनी बेहतर है,कौन सी कूरियर कंपनी अच्छी सर्विस कम खर्चे पर दे रही है, साथ ही यह भी बात कर लें की अगर कस्टमर प्रोडक्ट Return करता है तो उस प्रोडक्ट को लाने का क्या Cost लगेगा, और कितने दिन में वह प्रोडक्ट कस्टमर को डिलीवर करेगा और अगर कोई प्रोडक्ट वापस आना है तो कितने दिन में वह प्रोडक्ट आपको डिलीवर करेगा।



मार्केटप्लेस वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन: अगर आप अपने प्रोडक्ट को मार्केटप्लेस पर बेचना चाहते है तो आपको सबसे पहले उस मार्केटप्लेस पर खुद को रजिस्टर कराना होगा। एक बात ध्यान रहे बहुत से पॉपुलर वेबसाइट है जो रजिस्ट्रेशन के लिए GST Number मांगते है जैसे की अगर आप Amazon या Flipkart पर खुद को रजिस्टर करते है तो आपको अन्य डॉक्युमेंट के साथ GSTIN की कॉपी भी सबमिट करनी होती है. तो रजिस्ट्रेशन से पहले GST नंबर ले लें.

जब आप रजिस्ट्रेशन का प्रोसेस पूरा कर लेते है और अगर आपका सारा डॉक्युमेंट ठीक है तो रजिस्ट्रेशन करने के लगभग 3-5  दिन के अंदर वेरिफिकेशन का कार्य पूरा हो जाता है. उसके बाद आप अपने  सामान (प्रोडक्ट) की Image और  details वेबसाइट पर अपलोड कर अपना सामान बेच सकते है

हमने आपको इस आर्टिक्ल में ई-कॉमर्स बिज़नेस कैसे शुरू करे का सारा प्रोसेस शुरू से अंत तक बताया। अब आप आसानी से अपना ऑनलाइन बिज़नेस शुरु कर सकते है. 

अगर आपके मन में किसी प्रकार का सवाल या सुझाव है तो हमें कमेंट के जरिये या फिर Contact Us में  हमें ईमेल के जरिये अपने सवाल और सुझाव जरूर लिखे। हमें आपकी सहायता करने में अति ख़ुशी होगी।

 

धन्यवाद

4 thoughts on “ई कॉमर्स बिज़नेस कैसे शुरू करें?, How To Start E-Commerce Business In India- In Hindi”

    1. Thanks Minaxi to put your query.
      ecommerce business shuru karne ke liye koi ek fix cost decide nhi hai .. lekin ek approximate cost le kar chale to 50k rupees ke sath bhi ap online business shuru kar sakte ho, jisme apke equipment cost honge jaise ki computer, printer, GST certificate (required if your are selling on marketplace like amazon, flipkart), website cost (if your wish to sell on self ecommerce portal), iske alawa product cost hoga jo depend karta hai aap kon se product sell karte ho or kitni quantity se shuru karte ho.

  1. Hello,
    i am a minor and i want to start e commerce buisness.
    mujhe iske liye GST k alawa kon kon se legal documents ready karwane padenge.
    kya IEC bhi zaruri he

Leave a Comment

Your email address will not be published.