हिंदी योगी

elon musk

Motivational Story In Hindi-Elon Musk

अगर आपके अंदर कुछ बड़ा करने का ज़ज़्बा है, जिद है और विश्वास है तो दुनिया की कोई ताकत आपको अपने मकसद में कामयाब होने से रोक नहीं सकती।

परेशानी, दुःख, निराशा  हर व्यक्ति के जीवन में आती है, व्यक्ति को अंदर से तोड़ने की कोशिश करती है, उसे अपने मकशद से दूर धकेलने की कोशिश करती है, लेकिन जीतता वही है जो गिरता है, उठता है और लड़ता है, फिर गिरता है, उठता है और लड़ता है और तब तक लड़ता है जब तक उसे कामयाबी नहीं मिल जाती।  

Advertisement

 

नमस्कार दोस्तों, हिंदियोगी के इस ब्लॉग पोस्ट Motivational Story In Hindi में आपका स्वागत है.

 

आज आपको एक ऐसे शख्स की कहानी सुनाऊंगा जो इस सदी का सबसे प्रतिभाशाली और क्रन्तिकारी व्यक्ति है. आज बात करूँगा दुनिया के 7वें सबसे अमीर व्यक्ति  Elon  Musk की. जो एक निवेशक (Investor), अविष्कारक (Inventor) और व्यवसायी (Businessman) है.  यक़ीन मानिये इस व्यक्ति की कहानी सुनने के बाद आज ही आप अपनी दिनचर्या बदल लेंगे और कामयाबी की राह पर बढ़ते चले जाएंगे।

केवल 10 वर्ष की आयु में पहली कमाई

एलोन मस्क का जन्म 28 जून 1971 में साउथ अफ्रीका के प्रिटोरिया में हुआ था. एलोन मस्क जब 10 साल के हुए तभी उनके माता पिता का तलाक (divorce) हो गया. एलोन मस्क पिता के साथ रहने लगे लेकिन पिता के साथ उनका रिलेशन अच्छा नहीं रहा. 

 

एलोन मस्क को किताबें पढ़ने का बहुत शौक था. उन्होंने 10 साल की उम्र तक इतनी किताबें पढ़ ली जितनी एक ग्रेजुएट व्यक्ति नहीं पढ़ पाता है। 

 

एलोन को कंप्यूटर में बहुत दिलचस्पी थी और यही कारण था की उन्होंने मात्र 10 साल की उम्र में ही कंप्यूटर प्रोग्रामिंग सीख ली और केवल 12 साल की उम्र में एक “ब्लास्टर” नामक वीडियो गेम बना डाली जिसे उन्होंने $500 में एक कंपनी को बेच दी.

 

कल्पना कीजिये, एक 10 साल का बच्चा जिससे इतनी छोटी सी उम्र में अपनी माँ का साथ छूट गया. और पिता के साथ भी सम्बन्ध अच्छे नहीं थे इन सब के बावज़ूद इस बच्चे ने हार नहीं मानी। जिस उम्र में बच्चे माँ बाप से पैसे की जिद करते है, उस उम्र में उसने अपनी पहली कमाई कर ली.

एलोन मस्क की शिक्षा

एलोन ने अपनी हाई स्कूल की पढ़ाई साउथ अफ्रीका में ही की. एलोन बताते है साउथ अफ्रीका में स्कूल का experience अच्छा नहीं रहा. स्कूल में उन्हें बदमाश बच्चे बहुत परेशान करते थे, उसे मारते पीटते थे.

 

एक बार तो एलोन को उन बदमाश बच्चों ने स्कूल की सीढ़ियों से नीचे धकेल दिया जिसकी वजह से एलोन को बहुत गहरी चोट आयी थी और कुछ दिन तक हॉस्पिटल में ही एडमिट रहे. बचपन की घटना की वजह से एलोन को आज भी साँस लेने में थोड़ी दिक्कत होती है.

 

खैर जैसे तैसे एलोन ने उस स्कूल में हाई स्कूल तक पढ़ाई की उसके बाद आगे की पढ़ाई के लिए 17 साल की उम्र में वो कनाडा चले गए और उसके बाद U.S शिफ्ट हो गए जहाँ उन्होंने अपनी ग्रेजुएशन पूरी की.

पीएचडी की पढ़ाई मात्र 2 दिन में छोड़ी

elon musk

अब उन्हें पीएचडी की पढ़ाई करनी थी जिसके लिए उन्होंने  Stanford University in California में एडमिशन लिया। लेकिन एलोन को आभास हो गया था की इंटरनेट का जमाना आ चुका है और यही सही वक्त है इंटरनेट का हिस्सा बनने का. 

 

एलोन 2 दिन बाद ही पीएचडी की पढ़ाई छोड़ दी और अपने भाई किम्बल (Kimbal) के साथ मिल कर सन 1995 में अपनी पहली कंपनी ZIP2 की शुरुआत की. 

 

इस कंपनी के शुरुआती दौर में एलोन ने अपने पिता से फंडिंग ली उसके बाद कंपनी को और बड़ा करने के लिए उन्होंने एन्जल इन्वेस्टर (Angel Investors) से फंडिंग लेना शुरू किया. कंपनी बड़ी होती गयी और बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर बढ़ते चले गए. एलोन को उस कंपनी का सीईओ बनना था परन्तु बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर ने उनका यह फैसला रिजेक्ट कर दिया.

मात्र 28 साल की उम्र में Millionaire

बोर्ड ऑफ़ डायरेक्टर और एलोन मस्क के बीच विवाद होता देख कंपनी को ‘Compaq जो की एक कंप्यूटर बनाने वाली कंपनी है’, उसे बेच दिया गया. सन 1999 में इस डील में एलोन को US$ 22 million मिले। सिर्फ 28 साल की उम्र में इतनी बड़ी रकम के मालिक बने थे एलोन मस्क। 

 

मस्क चाहते तो इतने पैसे से अपनी सारी जिंदगी आराम से काट सकते थे, परन्तु एलोन यहीं नहीं रुके। उनकी मंज़िल शायद इससे भी बड़ी थी.

Paypal की शुरुआत की

एलोन ने जो पैसे ZIP2 को बेच कर कमाए थे उस पैसों से उन्होंने दोबारा एक दूसरी कंपनी X.com शुरू की. यह एक ऑनलाइन फ़ाइनेंशियल सर्विस कंपनी थी जिसे आगे चल कर Confinity में मर्ज कर दिया गया जिसे कुछ समय बाद Paypal नाम दिया गया. जी हां Paypal जो दुनिया की सबसे बड़ी ऑनलाइन फ़ाइनेंशियल सर्विस कंपनी है जिसका उपयोग हम सभी ऑनलाइन पैसे लेने और ट्रांसफर करने में करते है.


सन 2002 में Paypal को eBay के द्वारा Acquired कर लिया गया जो की एक बहुत बड़ी ईकॉमर्स कंपनी है.  Paypal के बिकने के बाद एलोन मस्क को US$165 million मिले जो की एलोन मस्क के लिए अब तक की सबसे बड़ी डील थी.

तीसरी कंपनी SpaceX की शुरुआत

अब आप सोच रहे होंगे की इतने पैसे मिलने के बाद एलोन ने उस पैसे को कही बैंक में फिक्स डिपाजिट कर दिए होंगे या किसी कंपनी में इन्वेस्ट कर दिए होंगे और आराम की लाइफ जी रहे होंगे। और शायद एलोन की जगह कोई और व्यक्ति होता तो ऐसा ही करता। 

लेकिन एलोन उन लोगो में से नहीं थे. उनका विज़न कुछ और ही था वो उन लोगों में से थे जो एक दो कामयाबी के बाद चैन से बैठते नहीं है, बल्कि एक के बाद दूसरे मकसद की खोज में निकल जाते है. 

 

👉 यह भी पढ़ें : कम लगत में कैसे शुरू करें खुद का बिज़नेस।

 

Paypal बेचने के बाद एलोन ने तीसरी कंपनी की शुरूआत की. जिसे SpaceX नाम दिया गया.

बिना शिक्षा के खुद से रॉकेट बनाया

motivational story in hindi

एलोन मस्क सोचते थे की मंगल गृह पर भी मनुष्य को बसाया जाना चाहिए, वहां भी पेड़-पौधे उगाये जा सकते है, वहाँ भी खेती हो सकती है। और मंगल गृह पर जाने के लिए रॉकेट की जरुरत होगी।

 

एलोन मस्क रशिया (रूस) गए वहाँ उन्होंने रॉकेट खरीदने की बात रखी,वहाँ एक रॉकेट की कीमत 8 मिलियन बताया गया । रॉकेट ज्यादा महंगा होने के कारण डील नहीं हुई, एलोन वापस आ गए. 

 

वापस आ कर रॉकेट बनाने में लगने वाले रॉ मेटेरियल की कैलकुलेशन की. सारी गरणा करने के बाद निश्चय किया की रॉकेट वे खुद ही बनाएँगे. 

 

सोचने वाली बात तो ये है की एलोन ने रॉकेट बनाने के लिए कोई फॉर्मल पढ़ाई नहीं की. और यह व्यक्ति रॉकेट बनाने की बात कर रहा है.

 

आपको ये सब पढ़ कर एक काल्पनिक कहानी जैसा प्रतीत हो रहा होगा। ये भी ख्याल आ रहा होगा की ये व्यक्ति पागल हो गया है, इसका दिमाग ख़राब हो गया है. बिना डिग्री के बिना रॉकेट बनाने की स्कूली शिक्षा के कैसे यह रॉकेट बनाने की सोच रहा है.

 

 

एलोन की सबसे बड़ी ख़ासियत शायद यही है की वे पढ़ते ज्यादा है. और सिर्फ पढ़ते ही नहीं है पढ़कर उन बातों को जिंदगी में implement भी करते है.अपने द्वारा पढ़े गए बातों का पूरा फायदा लेते है. 

 

एलोन खुद ही रॉकेट बनाने वाली किताबें पढ़ने लगे। उन्होंने बचपन में ही इतनी किताबें पर डाली जितनी कोई सोच भी नहीं सकता। 10 साल की उम्र में खुद से कंप्यूटर प्रोग्रामिंग सीखी और अब रॉकेट बनाने के लिए खुद से किताबें पढ़ना शुरू कर दिया।

 

एलोन ने SpaceX की शुरुआत की. इस कंपनी को शुरू करने का एलोन मस्क का उदेश्य था मंगल गृह पर जा कर जीवन की खोज करना और फिर ऐसे रॉकेट का निर्माण करना जो सस्ता हो ,और लोगो को पृथ्वी से मंगल गृह तक ले जाए और वापस लाए।

 

जिस तरह से आज हम एक स्थान से दूसरे स्थान तक पहुंचने के लिए किसी यातायात परिवहन का उपयोग करते है, अंतरिक्ष को ले कर एलोन मस्क की सोच भी उसी तरह थी की अंतरिक्ष यात्री परिवहन का निर्माण करूँगा जिससे लोग अंतरिक्ष में जाएंगे ,वहाँ घूमेंगे फिर वापस धरती पर आ जाएंगे।

 

एलोन ने एक इंटरव्यू में कहा है की वे 2040 लगभग 80,000  लोगो की आबादी मंगल गृह पर बसा देंगे। उनका यही कॉन्फिडेंट उन्हें बाकि लोगो से अलग करता है. और बताता है की एलोन दुनिया के कितने बड़े क्रन्तिकारी व्यक्ति है.

NASA से 1.5 मिलियन का प्रोजेक्ट मिला

2002 में एलोन ने SpaceX की स्थापना की और रॉकेट बनाना शुरू किया, एलोन को इसमें कामयाबी ऐसे ही नहीं मिली. पहली रॉकेट लॉन्च करते ही रॉकेट में आग लग गयी, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी, एलोन ने दोबारा कोशिश की, और दूसरी बार रॉकेट स्पेस में भेजी, इस बार भी रॉकेट orbit में लैंड करने में असफल रही.

 

एलोन के पैसे ख़त्म होते जा रहे थे और अब तक 2 बार असफल हो चुके थे, लेकिन उन्होंने कहा फिर से कोशिश करूँगा और उन्होंने तीसरी बार रॉकेट लाँच किया। राकेट स्पेस में गयी लेकिन फिर से ऑरबिट (Orbit) तक पहुंचने में असफल रही। 

 

अब तक एलोन के paypal को बेच कर कमाए सारे पैसे खत्म हो चुके थे. इतने में तो बड़े से बड़ा व्यक्ति भी टूट कर बिखर जाता है. हिम्मत जवाब दे जाती है. कहीं जा कर डूब मरने की बाते मन में आने लगती है लेकिन एलोन मस्क अलग ही व्यक्ति है। वे बैठ कर रोए नहीं, उन्होंने कहा की में फिर से कोशिश करूंगा। 

 

उन्होंने चौथी बार रॉकेट को अंतरिक्ष में भेजा लेकिन इस बार रॉकेट ऑर्बिट (Orbit ) में प्रवेश कर गयी. और इसके साथ साथ NASA ने 1.5 बिलियन का कॉन्ट्रैक्ट भी दिया। 

  

एलोन ने एक के बाद एक सफलता हासिल की लेकिन दिकक्तें भी बहुत आयी बावजूद इसके उन्होंने हार नहीं मानी। 

 

एलोन ने अब तक ZIP2 की स्थापना की, X.com की स्थापना की जो आगे चल कर Paypal बनी , फिर उन्होंने SpaceX की स्थापना की. एक के बाद एक अविष्कार करते जा रहे थे और सफल होते जा रहे थे.

इलेक्ट्रिक गाड़ी बनाने वाली कंपनी टेस्ला में एंट्री

motivational story in hindi

एलोन ने अगला अनाउंसमेंट किया। की अब वे बिजली से चलने वाली गाड़ी बनाएँगे। जी हां अब तक गाड़ियां पेट्रोल या डीजल से चलती आ रही थी जिसकी कॉस्ट ज्यादा थी और पेट्रोल से वातावरण भी प्रदूषित होती थी. 

 

अब एलोन टेस्ला मोटर (Tesla Motor) कंपनी में घुस गए और उन्हें वहाँ CEO की पोजीशन मिल गयी. और अब वे  इलेक्ट्रिक वेहिकल बनाने लगे.

 

शुरुआत में इसमें भी उन्हें बहुत दिक्कते आई. इलेक्ट्रिक गाड़ियाँ बनाने में बहुत ज्यादा कॉस्ट आने लगी.  गाड़ियां महंगी होने के कारण बिकती नहीं थी. लेकिन धीरे-धीरे उन्होंने उस कॉस्ट पर भी काबू पाया जिससे इलेक्ट्रिक कार की मार्केट में बड़ी मात्रा में डिमांड होने लगी.



तो ये थी दुनिया के उस व्यक्ति की कहानी जो आपको एक नई दिशा देती है और यह बताती है की जिंदगी में कुछ भी असंभव नहीं है. खुद पर विश्वास हो ,दृढ़ शक्ति और अपने काम में लगन हो तो इंसान बिना किसी के सहायता से कुछ भी कर सकता है.

दोस्तों इस पोस्ट Motivational Story In Hindi  में हमने Elon Musk के बारे में जाना। इसी तरह और भी true motivational story के लिए हमारे ब्लॉग को पढ़ते रहिये।

अगर आपके मन में किसी प्रकार का सुझाव या प्रश्न हो तो हमें कमेंट में या Contact Us में जा कर ईमेल के जरिये आप हमें अपना सुझाव या प्रश्न भेज सकते है. 

धन्यवाद 

Leave a Comment