हिंदी योगी

best investment plan in india

Best Investment Plans In India: पोस्ट ऑफिस के सेविंग स्कीम जिनमे निवेश कर आप बैंक के F.D. और R.D. से अधिक मुनाफा कमा सकते है

Best Investment Plans In India : निवेश करना बहुत जरूरी है और सही जगह निवेश करना उससे भी ज्यादा जरूरी है।

 

हर व्यक्ति अपने और अपने परिवार के भविष्य की सुरक्षा के लिए कुछ रकम निवेश करता है ताकि भविष्य में किसी विपदा के समय या अचानक पैसे की आवश्यकता पड़ने पर अपने द्वारा किये गए निवेश का उपयोग कर सके। 

Advertisement

 

इतना ही नहीं, निवेश की आवश्यकता हमें और भी अन्य महत्वपूर्ण कार्यो के लिए हो सकती है जैसे खुद के रिटायरमेंट के लिए , बच्चो की उच्च शिक्षा के लिए, उनकी शादी के लिए , घर ,गाड़ी या विदेश यात्रा के लिए।  

 

कोई नहीं जनता की भविष्य में कब पैसे की आवश्यकता पर जाए।  इसलिए निवेश बहुत जरूरी है। 

 

अक्सर देखा गया है कि निवेश की जानकारी न होने के कारण लोग अपनी गाढ़ी कमाई को गलत जगह निवेश कर देते है, जिसके कारण जितना अधिक ब्याज अथवा रिटर्न उन्हें अपने पैसे पर कमाना चाहिए था उतना नहीं कमा पाते, जो की एक प्रकार का वित्तीय घाटा ही है। 

 

अगर आप भी निवेश करना चाहते है और अपने पैसे पर पूरी सुरक्षा के साथ उच्च ब्याज कमाना चाहते है तो इस ब्लॉग पोस्ट में हम आपको 5 बेस्ट इन्वेस्टमेंट प्लान इन इंडिया के बारे में बताएंगे जिसमें निवेश कर आप बहुत अच्छे रिटर्न कमा सकते है। 

 

वैसे तो अधिक रिटर्न के लिए लोग अक्सर बाजार से सम्बंधित इंस्ट्रूमेंट में निवेश करते है जैसे कि कंपनी के शेयर्स में , म्यूचुअल फंड में , ETF आदि में  लेकिन अगर आप अपने पैसे पर किसी प्रकार का जोखिम नहीं लेना चाहते है और चाहते है 100 % गारंटी के साथ आपको एक फिक्स्ड इनकम मिले तो पोस्ट ऑफिस की सेविंग स्कीम आपके लिए बेहतर रहेगा।

बेस्ट पोस्ट ऑफिस स्कीम 2021 इस प्रकार है :-

पीपीएफ लम्बी अवधि के लिए निवेश के हिसाब से एक बेहतर विकल्प है। यह एक सरकारी स्कीम होने के कारण रिस्क फ्री इन्वेस्टमेंट है। मिनिमम 500 रुपये के साथ आप पीपीएफ में खाता खुलवा सकते है। 

 

पीपीएफ की मैच्योरिटी पीरियड 15 साल की होती है लेकिन कुछ महत्वपूर्ण स्थिति में पीपीएफ खाते से खाता खोलने के 5 साल बाद आंशिक निकासी कर सकते है। 

 

PPF की सबसे बड़ी विशेषता है की यह उच्च ब्याज दर के साथ इनकम टैक्स के सेक्शन 80c के अंतर्गत सालाना 1.5 लाख तक का टैक्स बेनिफिट भी प्रदान करता है। साथ ही PPF पर मिलने वाला ब्याज तथा मैच्योरिटी पर मिलने वाली रकम भी टैक्स फ्री होती है।  

 

👉 यह भी पढ़ें : शेयर मार्किट क्या है/ शेयर मार्किट में निवेश कैसे शुरू करे?

 

अगर हम PPF पर मिलने वाली ब्याज दर की बात करें तो मौजूदा समय में यह 7.1% है।  जानकारी के लिए बताते चले की PPF सरकारी स्कीम होने के कारण इस पर मिलने वाला ब्याज सरकार द्वारा हर तिमाही में घोषित की जाती है।

 

पीपीएफ आपको बाजार से कम दाम पर लोन की भी सुविधा प्रदान करती है। पीपीएफ खाता के खुलने के एक साल बाद और 5 साल से पहले आप लोग की सुविधा भी ले सकते है ।

2.Senior Citizen Saving Scheme (SCSS)

सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम (SCSS) पोस्ट ऑफिस की एक शॉर्ट टर्म सेविंग स्कीम है जो मुख्य रूप से भारतीय सीनियर सिटीजन के लिए है।  

 

SCSS में ऐसे व्यक्ति खाता खुलवा सकते है जिनकी उम्र 60 साल या उससे अधिक है।  या फिर ऐसे व्यक्ति जो 55 साल या उससे अधिक के है लेकिन 60 साल से कम उम्र के है और उन्होंने VRS ले रखा है वह भी SCSS में खाता खुलवा सकते है और इस सेविंग स्कीम का फायदा उठा सकते है।  

 

SCSS निवेशकों के बीच हमेशा से ही लोकप्रिय रहा है।  इसकी मुख्य वजह यह है कि यह अच्छे रिटर्न के साथ आपके निवेश की सुरक्षा की भी गारंटी देता है।  

 

सीनियर सिटीजन अपने उम्र के उस पड़ाव पर होते है जहाँ वे अपने पैसे पर किसी प्रकार का रिस्क नहीं चाहते।  उन्हें किसी ऐसे योजना की जरुरत होती है जहाँ से उन्हें अपने पैसे पर एक फिक्स्ड रिटर्न मिल सके।  और इसलिए SCSS ऐसे लोगो के लिए निवेश के लिहाज़ से सबसे बेहतरीन विकल्प है। 

 

SCSS की ब्याज दरें भारत सरकार द्वारा हर तिमाही में घोसित की जाती है।  मौजूदा समय में SCSS पर ब्याज की दर 7.4 फ़ीसदी है। इस स्कीम की मच्योरिटी पीरियड 5 साल होती है। 

 

इस स्कीम में एकमुश्त राशि एक बार में निवेश किया जाता है जो कि 1000 के मल्टीपल में होती है।  

SCSS में निवेश की अधिकतम सीमा 15 लाख रुपये है।  अर्थात आप 15 लाख से अधिक का निवेश नहीं कर सकते।  और यदि इस स्कीम में कोई ऐसा व्यक्ति निवेश करता है जिसने VRS ले रखी है तो निवेश की अधिकतम राशि उनके रिटायरमेंट बेनिफिट से अधिक नहीं होनी चाहिए। 

3.Sukanya Samridhi Yojna (SSY)

जो लोग शेयर बाजार से दूर रहना चाहते है लेकिन अच्छे रिटर्न कमाना चाहते है, ऐसे लोगों के लिए SSY एक बेहतरीन विकल्प है।  

 

SSY केंद्र सरकार की बेस्ट इन्वेस्टमेंट स्कीम है जिसमें आपके निवेश पर 100 % सुरक्षा की गारंटी होती है और साथ ही एक फिक्स्ड रिटर्न मिलती है। मौजूदा समय में सुकन्या समृद्धि योजना में दिया जाने वाला ब्याज दर 7.6 % है।  

 

अगर आपके घर में बिटिया है जिसकी उम्र 10 साल से कम है तो आप भी इस योजना का लाभ उठा सकते है।  

 

इस योजना में न केवल अच्छा ब्याज मिलता है बल्कि इनकम टैक्स के सेक्शन 80c के तहत आपको टैक्स बेनिफिट भी मिलता है। 

 

सुकन्या समृद्धि योजना केंद्र सरकार द्वारा बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ के तहत लांच किया गया है। इस योजना का मुख्य उदेश्य बेटियों की उच्च शिक्षा और उनकी शादी में वित्तीय सहायता देना है।

 

खाता खुलवाने के लिए आप किसी भी नजदीकी पोस्ट ऑफिस के ब्रांच में जा कर मात्र 250 रुपये से SSY में खाता खुलवा सकते है। अगर मैक्सिमम अमाउंट की बात करें तो SSY में एक फाइनेंसियल ईयर में अधिकतम 1.5 लाख रुपये तक जमा करवाया जा सकता है। 

 

सुकन्या समृद्धि योजना में खाता खुलवाने के बाद बच्ची के 21 की उम्र तक इस योजना को जारी रख सकते है।  दूसरी और यदि बेटी की उम्र 18 साल हो चुकी है तो आप उसकी उच्च शिक्षा के लिए SSY खाते से 50 % की राशि निकाल सकते है। 

4.National Saving Certificate (NSC)

नेशनल सेविंग्स सर्टिफिकेट (NSC ) :- इस ब्लॉग पोस्ट में हम बात कर रहे है बेस्ट इन्वेस्टमेंट प्लान इन इंडिया की और नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट की बात न हो ऐसा हो ही नहीं सकता।  

 

भारत सरकार द्वारा घोषित NSC पोस्ट ऑफिस की एक स्मॉल सेविंग स्कीम है जिसे आप किसी भी नजदीकी पोस्ट ऑफिस में जा कर खरीद सकते है।  

जैसा की हम पहले भी बात कर चुके है कि पोस्ट ऑफिस द्वारा जारी सभी सेविंग स्कीम 100 % सुरक्षित होती है। इसलिए NSC में निवेश आपके लिए रिस्क फ्री निवेश हो सकता है। 

 

👉 यह भी पढ़ें : पीएम अटल पेंशन योजना क्या है ? 5 महत्वपूर्ण बिंदु में जानिए APY का पूरा लाभ

 

NSC में आप मात्र 1000 रुपये से निवेश की शुरुआत कर सकते है , लेकिन इसमें  निवेश की ऊपरी कोई सीमा नहीं है। 

 

NSC की मैच्योरिटी पीरियड की बात करें तो यह 5 साल कि होती है।  5 साल बाद आप अपना पूरा पैसा निकाल सकते है। NSC में निवेश पर इनकम टैक्स की धारा 80c के तहत सालाना १.5 लाख तक के निवेश पर टैक्स छूट ले सकते है।

 

अगर NSC पर मिलने वाले इंटरेस्ट रेट की बात करें तो मौजूदा समय में यह 6.8 % है। बताते चले NSC पर चक्रवर्ती ब्याज मिलता है।

5.Kisan Vikas Patra (KVP)

ऊपर दिए गए अन्य स्कीमों की तरह किसान विकास पत्र भी पोस्ट ऑफिस की एक शॉर्ट टर्म सेविंग स्कीम है।  इसमें आपका पैसा पूरी तरह सुरक्षित रहता है और निवेश पर एक निश्चित ब्याज दर मिलता है।  

 

KVP में सर्टिफिकेट के रूप में निवेश होता है अर्थात इनमें निवेश हेतु आपको KVP सर्टिफिकेट खरीदने होते है।  यह सर्टिफिकेट्स 1000, 5000, 10000, और 50000  के मूल्य के रूप में होता है।  

 

अगर आप भी बाजार के उतार चढ़ाव से विचलित होते है तो पोस्ट ऑफिस के KVP में निवेश आपके लिए उत्तम साबित हो सकता है। इनमें आपके द्वारा किया गया निवेश 124 महीने में यानी 10 साल 4 में दोगुना हो जाता है। 

 

किसान विकास पत्र में आप 1000 रुपये से निवेश शुरू कर सकते है। इनमें निवेश की कोई अधिकतम सीमा निर्धारित नहीं है। स्कीम की अवधि 124 महीने यानी 10 साल 4 महीने की होती है। KVP में निवेश पर आपको 6.9 परसेंट का कंपाउंड ब्याज मिलता है। इसमें इनकम टैक्स की धारा 80C के तहत टैक्स छूट नहीं मिलती है साथ ही  इस पर मिलने वाला रिटर्न भी पूरी तरह से टैक्सेबल होता है .

Leave a Comment