हिंदी योगी

how to become rich

अमीर कैसे बने? 5 सिंपल स्टेप्स में जानिए खूब सारे पैसे बनाने के तरीके।

क्या अपने कभी सोचा है कि ऐसा क्यों होता है कि अमीर और अमीर होते जाते है और गरीब और गरीब होते जाते है. अलग-अलग लोगो के पास इस प्रश्न के अलग-अलग जवाब होंगे. लेकिन सच यही है कि हर अमीर इंसान अपने पैसे को ले कर बहुत ही अनुशासित (discipline) रहता है. वह हर एक पैसे को कहाँ और कितना और कैसे खर्च करना है. सभी चीजों की प्लानिंग करके चलता है. 

Advertisement

 

और उसी के विपरीत मध्यमवर्गीय व्यक्ति पैसे को ले कर किसी प्रकार की प्लानिंग नहीं करता। अधिकतर लोग दिखावे की जिंदगी में ही अपनी सारी उम्र  काट लेते है.  महंगे-महंगे वस्तुओं पर जरूरत से ज्यादा पैसा बरबाद कर देतें है और यक़ीन मानिये इनमें से कोई सामान उनके मतलब के भी नहीं होते। और दिखावे की जिंदगी उनसे अमीर होने का सपना छीन लेती है. 

 

मैं यहाँ आपको  ऐसा  बिलकुल नहीं कह रहा हूँ की आपको अपने शौक पूरा नहीं करना चाहिए। शौक के साथ आपको अपने पैसे को ठीक से व्यवस्थित करना भी आना चाहिए। और आपकी यही कला आपको एक अमीर इंसान बनने की केटेगरी में खड़ी करती है. 

 

ये आपको तय करना है की आपको किस हिसाब से अपने पैसे को खर्च करना है क्योकिं आपके पैसे के खर्च होने की दिशा ही आपको आपके अमीर बनने के सपनो के करीब ले जाती है.  

 

अगर आप भी अमीर बनना चाहते है तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़िए, यक़ीन मानिए इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद पैसे को ले कर आपका नज़रिया बदल जाएगा। और आप भी आत्मविश्वाश के साथ  कह पाएंगे की आप भी अमीर बन सकते है.

दोस्तों, अमीर बनने के लिए निवेश बहुत ज़रूरी है. जितने भी अमीर व्यक्ति  है, उनमे सबसे कॉमन बात यही है की वे अपनी कमाई का एक हिस्सा हर महीने कहीं न कहीं निवेश ज़रूर करते है.

 

आपमें से हर किसी ने वारेन बफेट का नाम सुना होगा। वे आज दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति में से एक है और उनकी अमीरी का राज़ उनके द्वारा किये गए निवेश ही है. 

 

आपको हर महीने अपनी कमाई का कम से कम 20% निवेश करना चाहिए। निवेश के लिए आप म्युचुअल फंड, गोल्ड, शेयर मार्केट, पोस्ट ऑफिस के हाई इंटरेस्ट वाले सेविंग स्कीम का चुनाव कर सकते है. यदि आपको शेयर मार्केट का बिलकुल ज्ञान नहीं है तो आपके लिए म्युचुअल फंड में निवेश करना बहुत अच्छा ऑप्शन रहेगा क्योकि यहाँ शेयर मार्केट के मुकाबले रिस्क भी कम रहता है और आपको अच्छा रिटर्न भी मिल जाता है.

#2 जीवन बीमा (Life insurance)

जिंदगी का कोई भरोसा नहीं होता। इसलिए कल को किसी अनहोनी की स्तिथि में अगर हम न रहे, तो हमारा परिवार आर्थिक रूप से मजबूत रहे, उसके लिए  हम जीवन बीमा करवाते है. 

 

दोस्तों जीवन बीमा लेना बहुत अच्छी बात है और ज़रूरी भी है, लेकिन बहुत से लोग ऐसे है जो ज़रूरत से ज्यादा या गलत इंश्योरेंस प्लान ले लेते है. जिसका उन्हें आर्थिक रूप से जितना फायदा होना चाहिए था उतना फायदा नहीं हो पाता। 

 

बहुत से लोग ऐसे है जो आज भी इंश्योरेंस को एक इन्वेस्टमेंट के रूप में देखते है. जब की इंश्योरेंस इन्वेस्टमेंट है ही नहीं। इंश्योरेंस एक बीमा है जिसमें बीमित व्यक्ति की किसी दुर्खटना में मृत्यु हो जाने पर उसके परिवार वालों को बीमा राशि बीमा कंपनी के द्वारा दी जाती है. 

 

मार्किट में बहुत से प्लान ऐसे है जिसमे यह दावा किया जाता है कि पॉलिसी के मच्योरिटी तक अगर पॉलिसी धारक जीवित है तो इस स्तिथि में पॉलिसी धारक को sum assured का पूरा पैसा मिल जाएगा। और इसी लालच में बहुत से लोग 10-10, 15-15 insurance ले लेते है. 

 

लेकिन क्या आप जानते है की इस प्रकार के Endowment या Money Back प्लान में प्रीमियम अधिक देना पड़ता है. 

 

अगर आप smartly सोचे तो आप जो प्रीमियम Endowment या Money back प्लान में दे रहे है उसी प्रीमियम में से आप term insurance और म्युचुअल फंड दोनों की EMI भर सकते है. 

 

इससे आपको insurance के साथ साथ एक अच्छा रिटर्न भी मिल जाता  है. जो की Endowment या Money Back प्लान के मुकाबले बहुत अधिक हो सकता है. 

 

इसलिए जहां आप Endowment जैसे प्लान में 500-1000 रूपये हर महीने प्रीमियम के रूप में देते है वही अगर आप 200 रूपये हर महीने Term Insurance के प्रीमियम एक रूप में  भरे और 500  रूपये किसी अच्छे म्यूच्यूअल फंड में भरे तो लॉन्ग टर्म में आपको  उसी राशि में Endowment प्लान के मुकाबले बहुत अच्छा रिटर्न मिल सकता है और साथ ही पॉलिसी  होल्डर के साथ किसी अनहोनी की स्तिथि में परिवार को टर्म इंश्योरेंस का भी लाभ मिल जाता है.

#3 स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance)

क्या होगा अगर कोई  व्यक्ति अपनी गाढ़ी कमाई में से हर महीने कुछ पैसे बचत के रूप में जमा करता है, ताकि भविष्य में उसके पास फंड का एक बड़ा कोष (Corpus) हो, ताकि वह उन पैसो से अपने और अपने परिवार के सपनो को पूरा कर सके.  लेकिन अचानक उसके परिवार में किसी की तबियत बिगड़ जाती है और वह किसी गंभीर बीमारी का शिकार हो जाता है और उसके इलाज़ में लाखों रूपये लग जाते है . जिसमे व्यक्ति द्वारा बचत की गयी सभी पैसे,हॉस्पिटल के बिल देने में खर्च हो जाते है और उतने से भी इलाज़ पूरा नहीं हो पता तो उसे कही और से भी पैसे उधार लेना पर जाता है. 

 

जरा कल्पना कीजिये इस स्तिथि में व्यक्ति अंदर से कितना टूट जाता है, कि इतनी सालों कि कमाई एक झटके में खर्च करने पड़ गए.

 

आपके साथ ऐसा न हो इसलिए परिवार में सभी मेंबर (पति, पत्नी, बच्चे, माता, पिता और अपने खुद के लिए) के लिए एक हेल्थ इंश्योरेंस बहुत आवश्यक है. स्वास्थ्य बीमा परिवार के किसी सदस्य की गंभीर बीमारी के स्तिथि में पैसे के नुकसान को काफ़ी हद तक कम कर देता है. जिससे आपके बचत या इन्वेस्ट किये गए पैसे पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता और आपकी इन्वेस्टमेंट सुचारु रूप से चलती रहती है.

#4 घरेलू बजट (Household Budget)

मिडिल क्लास परिवार की बात करें तो मात्र 10 % लोग ही होंगे जो अपने पैसे को ट्रैक करते होंगे या अपने पैसे का पूरा ब्यौरा एक डायरी में लिखते होंगे। बाक़ी 90% लोगो को घरेलू बजट बनाना बहुत ही पेचीदा काम लगता है.

 

लेकिन ऐसा नहीं है. हर कोई बहुत ही आसानी से अपने घर के महीने का बजट बना सकता है. और अपने पैसे को ट्रैक कर सकता है. 

 

घरेलू बजट बनाने से हमें अपने पैसे के सभी मूवमेंट (गतिविधि) के बारे में जानकारी मिलती है. और हम पैसे को ठीक से व्यवस्थित करने में सक्षम हो पाते है. 

साथ ही हमें यह भी अच्छे से मालूम होने लगता है की हम किस जगह बेफिजूल खर्च कर रहे है और कहाँ कहाँ पैसे बचा सकते है. 

 

घरेलू बजट बनाने से हमें अपने पैसे को कम खर्च करने और पैसे को ज्यादा से ज्यादा बचाने में मदद मिलती है.

#5 कमाई के दूसरे रास्ते भी खोजे

दोस्तों, अगर आपको बहुत जल्द Financially Independent (आर्थिक रूप से स्वतंत्र) होना है या अमीर बनना है तो आपको अपने सिर्फ एक आय पर निर्भर नहीं रहना चाहिए। 

 

अगर आप जॉब कर रहे है या बिज़नेस कर रहे है तो आपको इनकम के और भी रास्ते बनाने चाहिए। क्योकिं अगर आप जॉब कर रहे है तो जॉब कभी भी जा सकती है और अगर आप बिज़नेस कर रहे है तो बिज़नेस में घाटा भी हो सकता है. इसे आप मेरी नेगेटिव थिंकिंग न सोचे। यह एक प्रकार से फाइनेंसियल प्लानिंग है जिसमे आपको सिक्के के दोनों पहलू को देखना होता है और फिर आगे की प्लानिंग करनी होती है. 

 

आप अपने स्किल को डेवेलोप कर सकते है जैसे की आप अगर फाइनेंस में एक्सपर्ट है तो आप ऑनलाइन वित्तीय सलाहकार बन सकते है और अपनी सर्विस के लिए लोगो से कुछ फीस चार्ज कर सकते है. और उन पैसो को आप कही इंवेस्टमेस्ट कर सकते है जो आपको भविष्य में अमीर बनने के सपनों को जल्द पूरा करने में मदद करेगा।

Leave a Comment